Tuesday, May 21, 2024
More
    HomeEntertainmentBhojpuriBhojpuri news: मॉरीशस सरकार ने भोजपुरी महोत्सव का किया आयोजन

    Bhojpuri news: मॉरीशस सरकार ने भोजपुरी महोत्सव का किया आयोजन

    -

    Bhojpuri cinema: भोजपुरी दर्शकों के लिए बड़ी गर्व की बात है कि भारत नहीं बल्कि मॉरीशस में अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी महोत्सव किया गया। ये उद्घाटन मॉरीशस के प्रधानमंत्री , राष्ट्रपति और संस्कृति विरासत मंत्री की योगदान से संभव हो पाया वही स्वागत में भोजपुरी स्पीकिंग यूनियन की अध्यक्ष डॉक्टर सरिता बुद्धू जी की थी , आईए जानते हैं इस खबर के बारे में पूरे विस्तार से।

    यह भी पढ़े :

    Bhojpuri movie : अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी सम्मेलन 2019 में ही होना था परंतु कोविड के वजह से यह कैंसिल होता चला गया ।2019 में प्रवासी सम्मेलन के दौरान मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ जी ने बनारस में ही कहा था , हालांकि इसे अब 2024 में 6 में से 8 में तक के लिए आयोजित किया गया।गिरमिटिया विशेषांक में भोजपुरी के लोग निकले थे जिसमें भारत के साथ-साथ मॉरीशस के लेखक ने भी अपना काफी योगदान दिया। इस अंक को वहां के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और कला व संस्कृति विरासत मंत्री के साथ-साथ वहां पर उपस्थित तमाम गन्यमान  लोगों को भेंट किया गया।

    हालांकि भारत में भोजपुरी का संघर्ष बहुत है लेकिन मॉरीशस में इसे अपनाया और मान्यता दी। मॉरीशस के प्रधानमंत्री ने उद्घाटन किया और वहां के राष्ट्रपति इस आयोजन का समापन किया। यह एक छोटी बात नहीं है बल्कि बड़ी बात है और यह एक प्रकार का संदेश है और एक बहुत बड़ा आंदोलन भी है। तीन दिन में 17 सत्र और विश्व भर के डेलिगेट्स को आमंत्रित किया गया।

    भोजपुरी पुस्तक प्रदर्शन में भारत और मॉरीशस के लेखक भोजपुरी जंक्शन पत्रिका को 30 से भी अधिक विशेषांक दिया।

    Bhojpuri : अगला विश्व भोजपुरी दिवस मनाने का भी बात हुआ है हालांकि वह महोत्सव अगले साल भारत में ही होगा और उम्मीद है कि गोरखपुर या बनारस में हो। भोजपुरी महोत्सव का सिलसिला भारत में भी चलना चाहिए जिससे सांस्कृतिक और साहित्यिक चीज को इस जेनरेशन से अगले जनरेशन में ट्रांसफर करने में परेशानी ना हो।

    सभी डेलिगेट्स को वहां का गंगा तालाब , रामायण सेंटर ,  प्रवासी घाट और समुद्र तट या के साथ-साथ अनेकों पर्यटन स्थल पर घुमाया गया। भोजपुरी  महोत्सव एक क्रांति के रूप में रहा और यह एक भोजपुरी के लिए ऐतिहासिक महोत्सव भी रहा।

    Related articles

    Latest posts